By admin On Monday, August 17th, 2009
2 Comments

बिन मारे बैरी मरै, या सुख कहाँ समाय

लोगों के नजरिये में है बेटियों के न होने का ‘उत्सव’ जितना सुख खेत में खड़ी ईख के More...

By admin On Thursday, June 4th, 2009
2 Comments

चूरन के साथ बछड़े वाली गाय का दूध पीयें, बेटा होगा!

नासिरूददीन हैदर खाँ यह चूरन दूर देश तक मशहूर है। मशहूर हो भी क्यों न? पुत्र लिंग पैदा More...

By admin On Tuesday, June 2nd, 2009
2 Comments

बिटिया का खौफ बना बेहिसाब मुनाफे का धंधा

भ्रूण का लिंग परीक्षण करने वाले अल्ट्रासाउंड सेंटरों की चाँदी किसी काम की नहीं पीपीएनडीटी More...

By admin On Monday, May 25th, 2009
2 Comments

लड़की मरै घड़ी भर का दु:ख, जिये तो जनम भर का

बुंदेलखंड की धरती पर धड़ल्ले से हो रही भ्रूण की लिंग जाँच नासिरूद्दीन हैदर खाँ बांदा/चित्रकूट। More...

By admin On Saturday, May 23rd, 2009
2 Comments

अनचाही मुसलमान बेटियाँ: जमीनी हकीकत

कई लोगों को लगता है कि इस तरह की टिप्पिणियाँ या रपट खामख्वाह के मुद्दे उछालने का काम More...

By admin On Thursday, May 21st, 2009
2 Comments

… और जब उन गायब बेटियों से पूछा जाएगा (Declining sex ratio among the Muslims-1)

और जब उन गायब बेटियों से पूछा जाएगा नासिरूद्दीन हैदर खाँ ‘..और (इनका हाल यह है कि) जब More...

By admin On Wednesday, March 12th, 2008
2 Comments

… तो जिमाने के लिए कन्या कहाँ से आएँगी (Declining sex ratio)

नासिरूद्दीन ज़रा सोचिए अगर नवरात्र के मौके पर ‘जिमाने’ के लिए चलती-फिरती ‘कन्या’ More...