लिंग चयन

… पोती नहीं होगी आपको ?

mehndi-kid

पाँच) जी हाँ बेटा है आपका पगड़ी आपकी सलामत बेटा पैदा करने की पूरी कीमत वसूलेंगे आप माँगेंगे दहेज और कहेंगे ‘बेटी है आपकी जो है उसी का है’ कम लाई तो ताना देंगे मारेंगे.. सच है कि बेटा ही है आपका बेटी का बोझ न खौफ। पर क्या गारण्टी इसकी पोती नहीं होगी आपको…

Read More »

बिन मारे बैरी मरै, या सुख कहाँ समाय

लोगों के नजरिये में है बेटियों के न होने का ‘उत्सव’ जितना सुख खेत में खड़ी ईख के बिकने से होता है, वैसा ही सुख जनमते बेटी के मरने से और अगर शादी से पहले बेटी मर गयी तो क्या कहने? यह अपनी तन से पैदा हुई ‘तनया’ के बारे में बुंदेलखंड के एक हिस्‍से के लोगों की राय है। ...

Read More »

चूरन के साथ बछड़े वाली गाय का दूध पीयें, बेटा होगा!

नासिरूददीन हैदर खाँ यह चूरन दूर देश तक मशहूर है। मशहूर हो भी क्यों न? पुत्र लिंग पैदा करने का जो दावा है। कोई विज्ञापन नहीं। कोई तामझाम और लुभाने वाली पैकिंग नहीं। बस पुड़िया में बाँध कर मिलेगी। एक चुटकी का कमाल! बुंदेलखंड ही क्यों हमारे समाज में पुत्र चाह कितनी मजबूत है, यह इन चीजों से भी पता ...

Read More »

बिटिया का खौफ बना बेहिसाब मुनाफे का धंधा

भ्रूण का लिंग परीक्षण करने वाले अल्ट्रासाउंड सेंटरों की चाँदी किसी काम की नहीं पीपीएनडीटी सलाहकार समिति नासिरूद्दीन हैदर खाँ बेटा बताया बेटी हो गई… लायक नहीं हैं फिर भी अल्ट्रासाउंड मशीन चला रहे हैं … सरकारी डॉक्टर हैं पर लिंग जाँच कर कानून की खूब धज्जियाँ उड़ा रहे हैं… और करें भी क्यों न? न हींग लगे न फिटकरी ...

Read More »

लड़की मरै घड़ी भर का दु:ख, जिये तो जनम भर का

बुंदेलखंड की धरती पर धड़ल्ले से हो रही भ्रूण की लिंग जाँच नासिरूद्दीन हैदर खाँ बांदा/चित्रकूट। खूब लड़ी मर्दानी वो तो झाँसी वाली रानी थी- बुंदेलों के मुँह से स्त्री वीरता की हमने यही कहानी सुनी थी। लेकिन अब बुंदेलखंड में यह धुन ज्यादा सुनाई दे रही है-‘‘लड़की मरै घड़ी भर का दु:ख, लड़की जिये तो जनम भर का दु:ख।’’ ...

Read More »

अनचाही मुसलमान बेटियाँ: जमीनी हकीकत

muslim-girls

कई लोगों को लगता है कि इस तरह की टिप्पिणियाँ या रपट खामख्वाह के मुद्दे उछालने का काम करती हैं। फिर वो इसकी तहकीकात में ढेर सारे ऐसे सवाल करते हैं, जिनका वर्तमान रपट से कम ताल्लुक होता है। मुसलमानों में लिंग चयन और लिंग चयनित गर्भपात की क्या हालत है, उसको समझने के लिए ये चंद नमूने काफी हैं। ...

Read More »

… और जब उन गायब बेटियों से पूछा जाएगा

quran

नासिरूद्दीन हैदर खाँ ‘..और (इनका हाल यह है कि) जब इनमें से किसी को लड़की पैदा होने की खुशखबरी दी जाती है तो उसका चेहरा स्याह पड़ जाता है और वह तकलीफ में घुटने लगता है। जो खुशखबरी उसे दी गयी वह उसके लिए ऐसी बुराई की बात हुई कि लोगों से छिपा फिरता है। (सोचता है) अपमान सहन करते ...

Read More »

… तो जिमाने के लिए कन्या कहाँ से आएँगी (Declining sex ratio)

नासिरूद्दीन ज़रा सोचिए अगर नवरात्र के मौके पर ‘जिमाने’ के लिए चलती-फिरती ‘कन्या’ की जगह मूर्तियों का सहारा लेना पड़े! अगर बेटियों को पैदा न होने देने का सिलसिला यूँ ही चलता रहा तो हो सकता है कि आने वाले दिन ऐसे ही हों। नवरात्र के मौके पर ‘जिमाने’ के लिए ‘कन्याओं’ का ऐसी ही विकल्प तलाशना होगा। ऐसे संकेत ...

Read More »